10 साल के मासूम के अपहरण और हत्या का मामला सुलझा, बच्चे की मां को पाने की चाहत में आरोपी ने किया था बच्चे का कत्ल

    0
    200
    10 साल के मासूम के अपहरण और हत्या का मामला सुलझा, बच्चे की मां को पाने की चाहत में आरोपी ने किया था बच्चे का कत्ल

    नई दिल्ली: साउथ दिल्ली इलाके में 10 साल के बच्चे के अपहरण और हत्या के सनसनीखेज मामले को सुलझाते हुए पुलिस ने 22 साल के एक शख्स को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक आरोपी ने एक फेमस क्राइम टीवी सीरियल देखकर अपहरण और हत्या की इस वारदात को अंजाम दिया था. पुलिस के मुताबिक आरोपी का नाम बिट्टू है और बच्चे की हत्या करने का मकसद उसकी मां के करीब जाना था.

    28 नवंबर को पुलिस स्टेशन मैदान गढ़ी में एक महिला ने अपने 10 साल के बच्चे के लापता होने की शिकायत दर्ज करवाई. महिला ने अपनी शिकायत में बताया कि उनका बेटा शिवम शाम करीब 4:00 बजे घर से बाहर कुछ सामान लेने के लिए निकला था और उसके बाद वह वापस नहीं लौटा. परिवार ने बच्चे को ढूंढने की पूरी कोशिश की लेकिन वह नहीं मिला. बच्चे की तलाश घर के आसपास भी की गई और रिश्तेदारों से भी पूछा गया और बच्चे का कोई सुराग नहीं मिला. पुलिस ने किडनैपिंग का मामला दर्ज कर जांच शुरू की.

    जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि बच्चे के माता-पिता का कुछ आपसी मतभेद चल रहा है और दोनों एक दूसरे से अलग रहते हैं, इतना ही नहीं बच्चे को लेकर कोर्ट में केस भी चल रहा था. फिलहाल बच्चे की कस्टडी मां के पास थी लेकिन कभी-कभी पिता बच्चे को अपने साथ ले जाता था. पुलिस को सबसे पहला शक बच्चे के पिता पर हुआ. इलाके की सीसीटीवी फुटेज खंगालने के साथ-साथ पुलिस ने बच्चे के पिता पर भी नजर रखना शुरू किया लेकिन पुलिस को कुछ खास सफलता नहीं मिली और ना ही सीसीटीवी से कोई जानकारी हासिल हो पाई.

    पुलिस की जांच जारी थी लेकिन बच्चे का कोई सुराग नहीं मिल पा रहा था तभी 24 दिसंबर को जंगल के इलाके में पुलिस को एक लाश बरामद हुई लाश बेहद सड़ी गली अवस्था में थी. पुलिस ने लाश माता-पिता से करवाई तब पुलिस को पता चला यह बच्चा वही है जिसकी तलाश की जा रही थी.

    किडनैपिंग के इस मामले को सुलझाना अब पुलिस के लिए चुनौती बन गया था. पुलिस की जांच की दिशा बिल्कुल बदल गई. जांच के दौरान पुलिस को बिट्टू नाम के एक शख्स के बारे में पता चला पुलिस को पता चला कि बिट्टू बच्चे की मां का बचपन का दोस्त है और उससे शादी करना चाहता था लेकिन महिला के घर वालों ने इसकी मंजूरी नहीं दी और महिला की शादी कहीं और कर दी. इसके बाद बिट्टू को पता चला कि महिला का अपने पति के साथ कुछ डिस्प्यूट चल रहा है और वह से अलग रह रही है. बिट्टू धीरे-धीरे बच्चे की मां के करीब आने लगा और उसने बच्चे से भी दोस्ती कर ली. वह अक्सर बच्चे को अपने साथ घुमाने के लिए ले जाया करता था. यहीं से पुलिस को बिट्टू पर शक हुआ. पुलिस ने बिट्टू को हिरासत में लेकर उससे पूछताछ शुरू की. शुरुआत में बिट्टू पुलिस को बरगलाने लगा लेकिन जब उससे सख्ती से पूछताछ की गई और जांच में यह भी साफ हुआ कि जिस दिन बच्चे की हत्या की गई उस दिन बिट्टू की लोकेशन उसी जगह पर थी तो बिट्टू ने अपना जुर्म कबूल कर लिया.

    पूछताछ में बिट्टू ने बताया कि उसने बच्चे की मां को कुछ दिन पहले शादी का प्रस्ताव दिया था लेकिन बच्चे की मां ने उसके इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया. बच्चे की मां का कहना था कि अब उसका बेटा 10 साल का है वो अब दूसरी शादी नहीं करेगी. यह बात बिट्टू को नागवार गुजरी और बिट्टू ने 10 साल के मासूम शिवम को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया. पुलिस के मुताबिक उसने पहले टीवी पर एक क्राइम शो देखा और फिर रची मासूम शिवम के अपहरण और कत्ल की साजिश.

    वो 28 नवंबर की शाम थी. शाम के करीब 4 बजे थे. 10 साल का मासूम शिवम अपने घर से कुछ सामान लेने के लिए बाहर निकला. बिट्टू ने शिवम को देखा और कहा कि मेरे साथ चलो कुछ खाकर आते हैं बिट्टू उसे पहले बस स्टैंड ले गया और उसके बाद फतेहपुर बेरी पहुंचा वहां से एक ग्रामीण सेवा लेकर वह मैदान गढ़ी के जंगलों की तरफ गया और शिवम को कहा कि उसे नए कपड़े दिलाएगा और दोनों पैदल-पैदल जंगल की तरफ चलने लगे वहां मौका देखकर बिट्टू ने मासूम शिवम की गमछे से गला दबाकर हत्या कर दी और उसकी लाश को एक तालाब में फेंक कर फरार हो गया. बिट्टू जब घर पहुंचा तो बच्चे की मां उसकी तलाश कर रही थी बिट्टू ने उसकी मां के साथ बच्चे को ढूंढने का नाटक किया ताकि कोई शक ना कर सके.

    साउथ दिल्ली के डीसीपी अतुल ठाकुर के मुताबिक अपहरण और कत्ल के आरोपी बिट्टू ने लाश को जलाने की भी कोशिश की थी. हत्या के अगले दिन बिट्टू एक बार फिर उसी तालाब पर पहुंचा जहां पर उसने शिवम की लाश को ठिकाने लगाया था. लाश तालाब में तैर रही थी बिट्टू ने लाश को बाहर निकाला और पास के पेट्रोल पंप से पेट्रोल लाकर लाश को जलाने की कोशिश की लेकिन कम पेट्रोल और लाश गीली होने की वजह से वह उसे जला नहीं पाया. इसके बाद बिट्टू ने शिवम की लाश को पत्थरों के नीचे छिपा दिया. पुलिस के मुताबिक उसके अगले दिन भी लाश के पास पहुंचा और शिवम के तमाम कपड़े उतार दिए ताकि उसकी पहचान ना हो सके.

    बिट्टू अब पुलिस की गिरफ्त में है लेकिन उसके एक तरफा प्यार ने एक मां से उसके सहारे को छीन लिया.

     

     

    link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here