ये हैं गैंग्स ऑफ दिल्ली-NCR, जिनसे रहना चाहिए आपको होशियार

    0
    171
    ये हैं गैंग्स ऑफ दिल्ली-NCR, जिनसे रहना चाहिए आपको होशियार

    नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली और NCR में ऐसे कई गैंग एक्टिव हैं जो पलक झपकते ही आपको चूना लगा देते हैं. ये गैंग कुछ मिनटों में आपके साथ लूट की वारदात को अंजाम दे देते हैं. आज हम आपको इन्हीं सब गैंग के बारे में बताने जा रहे हैं. इस रिपोर्ट बताया गया है कि कुछ गैंग ऐसे हैं जो सड़कों पर लोगों के साथ ठगी करते है और कुछ गैंग चाकू की नोक पर लूट को अंजाम देते हैं.

    ठक-ठक- गैंग की अगर बात करें तो इस गैंग में 3 से 4 सदस्य होते हैं. ये गैंग गाड़ी में बैठे लोगों के साथ ठगी को अंजाम देते हैं. उस गाड़ी को टारगेट किया जाता है जिस गाड़ी में पीछे की सीट पर बैग या कोई और सामान रखा होता है. गैंग का एक सदस्य गाड़ी में कोई आवाज़ करता है तभी गाड़ी चला रहा शख्स अपनी गाड़ी रोकता है ये देखने के लिए की आखिरकार क्या हुआ है. जब वो गाड़ी के सेंटर लॉक को खोलकर नीचे उतरता है तभी गैंग का दूसरा सदस्य गाड़ी में पीछे की सीट पर रखे समान को लेकर गायब हो जाता है.

    नोट गैंग- इस गैंग का टारगेट भी गाड़ी ही होती है. जिसमें सामान होता है. गैंग का एक सदस्य गाड़ी में बैठे ड्राइवर के पास आता है और यह कहता है कि आपके कुछ पैसे नीचे गिर गए हैं. पैसे उठाने के लिए ड्राइवर गाड़ी को अनलॉक करता है. अनलॉक होते ही चारों दरवाजे भी अनलॉक हो जाते हैं जब ड्राइवर गाड़ी से उतर कर नीचे देखता है तब नीचे कुछ नोट गिरे होते हैं. जब ड्राइवर नोट उठा रहा होता है तभी गैंग का दूसरा सदस्य गाड़ी से बैग लेकर फरार हो जाता है.

    तेल गैंग- इस गैंग के टारगेट पर भी गाड़ी ही होती हैं. गैंग के लोग उसी गाड़ी को टारगेट करते हैं जिस गाड़ी में बैग रखा होता है जब ड्राइवर का ध्यान कहीं और होता है तब गैंग के लोग गाड़ी के बोनट पर कुछ तेल गिरा देते हैं और ड्राइवर को कहते हैं की गाड़ी से तेल लीक हो रहा है ड्राइवर जब नीचे उतरकर गाड़ी को देता है तब गैंग के दूसरे सदस्य गाड़ी में रखे बैट को लेकर रफूचक्कर हो जाते हैं.

    अंडा गैंग- ये गैंग बेहद खतरनाक होता है. क्योंकि इस गैंग के लोग आपके साथ हैं कि नहीं करते बल्कि लूट करते हैं यह गैंग अक्सर दिल्ली एनसीआर में हाईवे के पास वारदात को अंजाम देते हैं चलती हुई गाड़ी पर अचानक से एक अंडा आकर गिरता है. अंडा जब गाड़ी पर टूटता है तब उसका लिक्विड गाड़ी के सामने वाले शीशे पर फैल जाता है. गाड़ी चला रहे शख्स को समझ नहीं आता कि आखिरकार यह क्या हुआ है गाड़ी चला रहा शख्स शीशे को साफ करने के लिए वाइपर चलाता है. अंडे के लिक्विड की वजह से गाड़ी का शीशा सफेद हो जाता है और सामने कुछ नजर नहीं आता तब ड्राइवर गाड़ी को रोककर कपड़े से शीशा साफ करने के लिए नीचे उतरता है. तभी इस गैंग के लोग पहुंचते हैं और हथियार दिखाकर लूट की वारदात को अंजाम देकर फरार हो जाते हैं अगर कोई इनसे उलझने की कोशिश करता है तो यह लोग वार करने से भी पीछे नहीं हटते.

    गुलेल गैंग- इस गैंग के सदस्य भी बेहद शातिर और खतरनाक होते हैं और यह गैंग भी दिल्ली एनसीआर में हाईवे के आसपास ऑपरेट करता है चलती गाड़ी का शीशा अचानक से टूट जाता है गाड़ी चला रहा शख्स गाड़ी रोकता है यह देखने के लिए क्या करें कार शीशा कैसे टूटा है तब इस गैंग के लोग पहुंचते हैं और ड्राइवर के साथ लूट करके फरार हो जाते हैं दरअसल इस गैंग के लोग गुलेल के जरिए कंचे से शीशे को तोड़ देते हैं।

    यह वह तमाम गैंग हैं जो दिल्ली एनसीआर में एक्टिव है लिहाजा अगर आप दिल्ली एनसीआर में गाड़ी में कहीं जा रहे हैं तो बेहद सावधान रहें क्योंकि आपकी सावधानी में ही आपकी सुरक्षा है. गाड़ी चलाते समय रास्ते में आपको कोई भी इस तरीके का शख्स मिले तो आप दरवाजा खोलने से पहले उसे परख लें उसके बाद ही गाड़ी का दरवाजा खोलें नहीं तो आप भी ठगी या फिर लूट के शिकार हो सकते हैं.

     

     

    link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here