Urine Infection Symptoms: UTI क्या होता है, जानिए लक्षण, कारण और बचाव के तरीके

    0
    134
    Urine Infection Symptoms: UTI क्या होता है, जानिए लक्षण, कारण और बचाव के तरीके

    न्यू दिल्ली: यूटीआई या यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (Urinary Tract Infection) एक आम समस्या है. यह समस्या महिलाओं और पुरुषों, दोनों को ही हो सकती है. लेकिन महिलाओं में इससे होने वाली परेशानी और जटिलताएं ज्यादा दिखती हैं. यूटीआई होने पर पेशाब करने में दिक्कत होती है. यूटीआई संक्रमण अक्सर ई-कोलाई बैक्टीरिया (E-Coli) के कारण होता है.

    क्या होता है UTI Infection?

    जब मूत्राशय और इसकी नली बैक्टीरिया से संक्रमित हो जाती है, तब यू.टी.आई होता है. इसके संक्रमण का मुख्य कारण ई-कोलाई बैक्टीरिया है. UTI तब होता है, जब बैक्टीरिया आपके यूरिनरी ट्रैक्ट (Urinary Tract) के जरिए शरीर में घुसते हैं और ब्लैडर (Bladder) व किडनी (Kidneys) को नुकसान पहुंचाते हैं. दरअसल ये पुरुष की अपेक्षा महिलाओं में ज्यादा कॉमन है क्योंकि महिलाओं का Urethra (ब्लैडर को ट्रैक्ट से जोड़ने वाला ट्यूब) पुरुषों से छोटा होता है. इससे बैक्टीरिया को अंदर तक पहुंचने में आसानी होती है.

    ज्यादातर महिलाओं को उनके जीवन में कम से कम एक बार यह संक्रमण जरूर होता है. जानिए यूटीआई के मुख्य कारण, लक्षण और बचाव.

    UTI होने के कारण 

    यूरिन इन्फेक्शन (Urine Infection) कई कारणों से हो सकता है. जानिए यूटीआई होने के प्रमुख कारण (Causes Of UTI).

    1.  जब बैक्टीरिया आपके Urethra या Vulva में पहुंच जाए.

    2. सेक्स के दौरान जब कीटाणु Urethra में चले जाएं.

    3. पब्लिक या गंदा टॉयलेट इस्तेमाल करने पर इन्फेक्शन हो सकता है.

    4. Genitals को गंदे हाथों से छूने पर

    5. जब टॉयलेट वाले गंदे पानी के छींटें आप तक आ जाएं.

    यूटीआई के लक्षण (UTI Symptoms)

    यूरिन इन्फेक्शन के ये प्रमुख लक्षण (Urine Infection Symptoms) जानकर आप समझ सकते हैं कि आपको यूटीआई है या नहीं. फिर उसी हिसाब से अपना चेकअप करवा लें.

    1. बार-बार वॉशरूम जाने की जरूरत महसूस करना

    2. टॉयलेट करने के दौरान बहुत जलन होना

    3. पेट के निचले हिस्से और कमर में दर्द होना

    4. Urine में खून या पस का आना

    5. बार-बार बुखार आना

    यूटीआई का इलाज (UTI Treatment)

    यह इन्फेक्शन बिना इलाज के खत्म नहीं होता है इसलिए लक्षण महसूस होते ही डॉक्टर से परामर्श जरूर लें. इसका सही इलाज Antibiotics ही हैं. ज्यादा से ज्यादा पानी पीने से भी इन्फेक्शन खत्म हो सकता है.

    यूटीआई से बचाव (UTI Prevention)

    कुछ तरीके आजमाकर आप काफी हद तक यूरिन इन्फेक्शन से अपना बचाव कर सकते हैं. जानिए इससे बचाव के तरीके.

    1. यूरिन को रोकने की कोशिश न करें.

    2. इससे बचने के लिए खूब पानी पिएं.

    3. सेक्स के बाद अपने प्राइवेट पार्ट्स को साफ जरूर करें.

    4. हर बार टॉयलेट करने के बाद खुद को अच्छी तरह से वॉश करें.

    5. हमेशा साफ और सहज इनर वियर पहनें.

    यूटीआई के लिए घरेलू उपाय (Home Remedies for Urinary Tract Infection)

    1. सेब का सिरका (Apple Cider Vinegar) पोटैशियम और अन्य फायदेमंद खनिजों से समृद्ध होता है. यह यूरिन ट्रैक्ट इन्फेक्शन की जड़ बनने वाले बैक्टीरिया से बचाव करता है. इसमें आप नींबू का रस और शहद भी मिला सकते हैं.

    2. आंवला (Amla) विटामिन-सी से समृद्ध होता है और यह बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकता है. दिन में 4-5 बार आंवले का जूस पिएं.

    3. रोजाना आधा ग्लास क्रैनबेरी जूस (Cranberry Juice) पीने से यूरिन इन्फेक्शन से राहत मिलने और बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकने में मदद मिलती है.

    4. बेकिंग सोडा (Baking Soda) यूरिन के एसिड को संतुलित करता है और दर्द से राहत दिलाने में मदद करता है.

    5. टी ट्री ऑयल (Tea Tree Oil) में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, जो बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करते हैं. टी ट्री ऑयल की दस बूंदों को पानी में मिला कर मूत्र स्थान पर लगाएं.

    6. ब्लूबेरी (Blueberry) में बैक्टीरिया को कम करने के गुण मौजूद होते हैं, जो यू.टी.आई. के इलाज के लिए बेहद फायदेमंद हैं.

    7. प्रतिदिन एक कप अनानास (Pineapple) खाने से यूटीआई से बचा जा सकता है. इसके अलावा आप इसका ताजा जूस भी पी सकते हैं.

    8. रोजाना गर्म पानी की सिकाई से मूत्राशय का प्रेशर कम होता है और संक्रमण से होने वाले दर्द से भी राहत मिलती है.

    9. यदि आप यूरिन इन्फेक्शन से पीड़ित हैं तो रोजाना ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं. इससे राहत मिलने में आसानी होती है.

     

     

    link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here