देश के लिए आज ऐतिहासिक दिन, जानें कोरोना टीकाकरण को लेकर राज्यों की क्या है तैयारियां?

    0
    168
    देश के लिए आज ऐतिहासिक दिन, जानें कोरोना टीकाकरण को लेकर राज्यों की क्या है तैयारियां?

    नई दिल्ली: आज का दिन देश के लिए बहुत ऐतिहासिक है. आज कोरोना के खिलाफ देश को सबसे बड़ा हथियार मिलने वाला है. देश में आज दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू हो रहा है. आज देश भर में तीन हजार 6 जगहों पर कोरोना का टीका लगाया जाएगा.

    कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण सुबह करीब 9 बजे शुरू हो जाएगा. उसके बाद वैक्सीन लगवाने वाले लोगों से प्रधानमंत्री मोदी 10.30 बजे बात करेंगे. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज एक साथ पूरे देश में 3006 (तीन हजार छह) जगहों पर इस अभियान की शुरुआत करने वाले हैं.

    वैक्सीनेशन से पहले राज्यों की क्या-क्या तैयारियां देखने को मिलीं वो सिलसिलेवार तरीके से हम आपको बताते हैं. सबसे पहले बात देश की राजधानी दिल्ली की. दिल्ली में कुल 85 जगहों पर टीकाकरण होने वाला है. एक दिन पहले ये तय किया गया कि 75 जगहों पर सीरम इंस्टिट्यूट की कोवीशील्ड वैक्सीन लगाई जाएगी. ये सभी दिल्ली सरकार के अस्पताल है या प्राइवेट अस्पताल हैं, जबकि बाकी भारत सरकार के 6 अस्पतालों में भारत बायोटेक की को-वैक्सीन लगाई जाएगी.

    दोनों वैक्सीन आपस मे मिक्स-अप ना हो- सत्येंद्र जैन

    दिल्ली के स्वास्थय मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा, ”ऐसा स्पष्ट वर्गीकरण इसलिए किया गया है ताकि दोनों वैक्सीन आपस मे मिक्स-अप ना हो. लाभार्थी को पहली डोज़ जिस वैक्सीन की लगी है दूसरी डोज भी उसी वैक्सीन की लगे. जिस टीकाकरण केंद्र पर कोवीशील्ड लगेगी उस पर सिर्फ कोवीशील्ड लगेगी और जिस पर को-वैक्सीन लगेगी उस पर सिर्फ़ को-वैक्सीन ही लगेगी.” दिल्ली में आज जिन लोगों को सबसे पहले वैक्सीन दी जाने वाली है उसकी तैयारी पूरी हो चुकी हैं. इन लोगों को सूचित भी कर दिया गया है.

    उत्तर प्रदेश में 317 केन्द्र बनाये गये हैं

    उत्तर प्रदेश में टीकाकरण की तैयारियां पूरी हैं. पूरे उत्तर प्रदेश में 317 केन्द्र बनाये गये हैं, जिनमें 31 हजार 700 लोगों को आज वैक्सीन लगाई जाएगी. लखनऊ में कुल 12 केन्द्रों पर टीकाकरण होगा, जिसमें 8 सरकारी और 4 निजी अस्पताल शामिल हैं. वैक्सीन को इन अस्पतालों में पहुंचाया जा चुका है. लखनऊ के डफरिन अस्पताल में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भाषण खत्म होते ही पहला टीका लगाया जाएगा. पहले टीके के लिए सफाईकर्मी संगीता वाल्मीकि को चुना गया है.

    मध्य प्रदेश में पहला टीका अस्पताल के सुरक्षाकर्मी को लगाया जाएगा

    मध्य प्रदेश में भी तैयारी पूरी है. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टीकाकरण से ठीक पहले राजनीति करने वालों को सलाह देते नजर आए. भोपाल में भी पहला टीका जेपी अस्पताल के सुरक्षाकर्मी हरिदेव यादव को लगाया जाएगा. हरिदेव यादव आज प्रधानमंत्री मोदी से भी बात करेंगे. इसको लेकर वो बेहग खुश और उत्साहित हैं.

    छत्तीसगढ़ में टीकारण की तैयारी हुई पूरी

    छत्तीसगढ़ के रायपुर में डॉ भीमराव आम्बेडकर अस्पताल में भी वैक्सीन लगाने की तैयारी पूरी हो चुकी है. जिन स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन लगना है वो लोग काफी उत्साहित नजर आए. इनमें से ज्यादातर लोग कोविड-19 की ड्यूटी के दौरान कोरोना संक्रमित भी हो चुके हैं. अस्पताल के नर्सिंग स्टाफ को उम्मीद है कि वैक्सीन से उनके अंदर कोरोना का डर खत्म हो जाएगा.

    स्वास्थय मंत्री ने बढ़ाया देश का हौसला, वैक्सीन के बाद भी रखनी है सावधानी

    जिन लोगों ने कोरोना काल में 10-10 महीनों तक इन अस्पतालों में काम किया है, उनका डरना लाजिमी भी था. इसीलिए देश के स्वास्थ्य मंत्री ने टीकाककरण अभियान को कोरोना के अंत की शुरुआत बताया और देश का हौसला बढ़ाया. वैक्सीन लगने के बाद भले ही लोगों का डर खत्म हो जाए, लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि तुरंत लापरवाही बरतने लग जाएं. अभी भी सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाना आप सभी के लिए उतना ही जरूरी है ताकि कोरोना पूरी तरह हारे और इंडिया जीते.

    link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here