31 मार्च का इतिहास: इस दिन बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर को भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

“बाबासाहेब” भीमराव अम्बेडकर ने भारत के स्वतंत्रता संग्राम में सक्रिय भाग लिया और जीवन भर सामाजिक भेदभाव के खिलाफ लड़ते रहे। स्वतंत्रता के बाद, उनकी भूमिका तब और भी महत्वपूर्ण हो गई जब उन्हें राष्ट्र के संविधान का निर्माण करने का काम सौंपा गया।

देश के इतिहास में 31 मार्च की तारीख में दर्ज अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं की एक श्रृंखला इस प्रकार है: –

1504: सिख गुरु अंगद देव जी का जन्म। वे गुरु नानक देव जी के बाद सिखों के दूसरे गुरु थे।

1727: दुनिया के महान भौतिकविदों में से एक आइजैक न्यूटन का 84 वर्ष की आयु में लंदन में निधन हो गया।

1774: डाक सेवा भारत में शुरू हुई, पहला डाकघर खोला गया।

1870: अमेरिका में पहली बार किसी अश्वेत नागरिक ने मतदान किया। अश्वेतों को समान अधिकार देने की दिशा में यह एक बड़ी सफलता थी।

1889: प्रसिद्ध पेरिसियन एपेल टॉवर आधिकारिक तौर पर खोला गया।

1921: भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का झंडा अपनाया गया था।

1959: तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा अपने 20 शिष्यों के साथ भारत की सीमा पर पहुंचे। 17 मार्च को, वह तिब्बत की राजधानी ल्हासा से पैदल ही रवाना हुआ, और खेंजिमन दर्रे से सुरक्षित भारत पहुंचा।

1964: बंबई में बिजली का ट्राम बंद हो गया।

1980: महान अमेरिकी धावक जेसी ओवेन्स का निधन। 1936 के बर्लिन ओलंपिक खेलों में ओवेन्स ने अपने देश के लिए चार स्वर्ण पदक जीते।

1980: अंतिम आईसीएस अधिकारी निर्मल मुखर्जी सेवानिवृत्त हुए।

1981: इंडोनेशिया के पांच आतंकवादियों में से एक ने घरेलू विमान को ठिकाने लगाकर थाईलैंड के बैंकॉक में हत्या कर दी थी। विमान में सवार सभी 55 लोग सुरक्षित थे। आतंकवादियों ने विमान को अगवा कर लिया और 28 मार्च को बैंकॉक में ले गए ताकि 80 लोगों को इंडोनेशिया की जेलों में छोड़ा जा सके।

1983 : कोलंबिया में भूकंप से लगभग 5000 लोग मारे गए।

1989 : विशालकाय एफिल टॉवर, जिसे पेरिस की पहचान माना जाता है, आधिकारिक तौर पर खोला गया था। फ्रांसीसी क्रांति के शताब्दी के अवसर पर निर्मित 300 मीटर ऊंची लोहे की यह इमारत गुस्ताव एफेल की तकनीकी प्रगति का एक बेजोड़ उदाहरण माना जाता है।

1990: संविधान निर्माता डॉ। भीमराव अंबेडकर को मरणोपरांत भारत रत्न, सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

2004: अर्जेंटीना के ब्यूनस आयर्स के एक नाइट क्लब में आग लगने से 175 लोगों की मौत हो गई।

(यह खबर एनडीटीवी टीम द्वारा संपादित नहीं की गई है। यह सीधे सिंडिकेट फीड से प्रकाशित हुई है।)

 

link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here