दिल्ली में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के बीच अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने बृहस्पतिवार को निर्णय लिया कि 10 अप्रैल से केवल बेहद जरूरी सर्जरी ही की जाएगी. सभी केंद्रों और विभागों के प्रमुखों को भेजे गए पत्र में एम्स के अधीक्षक डॉ डी. के. शर्मा ने कहा कि एम्स के निदेशक की अध्यक्षता में बृहस्पतिवार को रामलिंगस्वामी बोर्ड कक्ष में बैठक हुई. शर्मा ने बताया कि बैठक में निर्णय लिया गया कि कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए ऑपरेशन थिएटर की सेवाओं को कम किया जाएगा.

दिल्ली में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए सभी स्कूल कॉलेज बंद किए गए हैं. हालांकि जहां सिर्फ प्रेटिक्लस चल रहे हैं, वहां स्कूल खुले रहेंगे. इसके अलावा, सार्वजनिक कार्यक्रम और शादी में खुली जगह में 200 लोग और बंद जगह में 100 लोगों के शामिल होने की अनुमति होगी. राज्य में 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा. नाइट कर्फ्यू रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा. दिल्ली में पिछले तीन हफ्तों से कोरोना के नए मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है.

पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों से की बातचीत

बता दें कि देशभर में कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी है. इसी बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने भी आज सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ इस मुद्दे को लेकर बातचीत की. उन्होंने राज्य सरकारों को जरूरी दिशानिर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सख्त से सख्त कदम उठाए जाएं. इसके अलावा, लोगों को मास्क का प्रयोग कराने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के भी निर्देश दिए हैं. पीएम मोदी ने 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को कोरोना का टीका लगवाने के लिए जागरूक करने के भी निर्देश दिए हैं.

 

link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here