Calcium Deficiency: कैल्शियम की कमी को हल्के में लेना पड़ सकता है भारी, शरीर को हो सकते हैं ये गंभीर नुकसान

कैल्शियम शरीर के लिए सबसे महत्वपूर्ण पोषक तत्वों में से एक माना जाता है. यह स्वस्थ दांतों और हड्डियों को बनाने और बनाए रखने में मदद करता है. कैल्शियम की कमी कभी भी शरीर में नहीं होने दी जानी चाहिए. आज हम आपको बता रहे हैं कि कैल्शियम की कमी से कौन-कौन से नुकसान होते हैं.

कमजोर हड्डियां और भंगुर नाखून

कमजोर और भंगुर नाखून कैल्शियम की कमी के संकेतों में प्रमुख है.  आप लगातार चिपके हुए नाखूनों या उन्हें ठीक से बढ़ने में समस्या का सामना कर रहे हैं, तो यह कैल्शियम की कमी का संकेत है. आपके पैर की उंगलियां परतदार और मोटी लगती हैं या आपके नाखूनों पर सफेद धब्बे या डॉट्स हैं, तो आपको अपने कैल्शियम की खपत की जांच करनी चाहिए.

मांसपेशियों की ऐंठन

कैल्शियम की कमी आपकी नसों और मांसपेशियों को अत्यधिक प्रभावित करती है. इस महत्वपूर्ण पोषक तत्व की कमी से न्यूरोमस्कुलर चिड़चिड़ापन, पैरों या बाहों में ऐंठन होता है. शरीर की सभी मांसपेशियों को भी उचित कार्य के लिए कैल्शियम के समर्थन की जरूरत होती है.

थकान या सुस्ती

अगर आप ज्यादातर समय थकान और सुस्ती महसूस करते हैं तो इसके कई कारण हो सकते हैं लेकिन इसका एक कारण कैल्शियम की कमी भी है. थकान और सुस्ती की समस्या आपके अनुचित खाने की आदतों के साथ भी हो सकती है, जिसमें आप शायद कैल्शियम से भरपूर फूड्स नहीं खा रहे हैं.

दंत समस्याएं

दांतों में कैल्शियम की कमी से कमजोर जड़ें, चिड़चिड़े मसूड़े, भंगुर दांत, और दांतों की सड़न जैसी समस्याएं झेलनी पड़ सकती है. शिशुओं में कम कैल्शियम का स्तर दांतों के गठन में देरी कर सकता है.

कैल्शियम के स्रोत

    1. सोयाबीन और उससे बनने वाली चीजें
    2. ब्रोकोली
    3. रागी
    4. तिल
    5. चना
    6. पालक
    7. डेयरी प्रोडक्ट्स

 

link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here