Corona in India: देश में कोरोना ने अबतक के सभी रिकॉर्ड तोड़े, पहली बार एक दिन में एक लाख नए मामले दर्ज

Corona in India:

देश में जानलेवा कोरोना वायरस ने अबतक के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. महामारी शुरू होने के बाद से आज पहली बार एक दिन में संक्रमण के एक लाख से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं. ये संख्या एक लाख तीन हजार 558 है. पिछली बार एक दिन में सबसे ज्यादा मामले 16 सितंबर 2020 को दर्ज किए गए थे. तब मामलों की संख्या 97 हजार 894 थी. तब 1132 लोगों की मौत हुई थी. जबकि पिछले 24 घंटों में 478 मौत दर्ज की गई हैं.

अबतक एक लाख 65 हजार 101 लोगों की मौत

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में अब संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढकर एक करोड़ 25 लाख 89 हजार 67 हो गई है. जबकि अबतक एक लाख 65 हजार 101 लोगों की मौत हो चुकी है. देश में दिन पर दिन एक्टिव केस बढ़ रहे हैं, जिनकी संख्या अब 7 लाख 41 हजार 830 हो गई है. कल कोरोना से 52 हजार 847 लोग ठीक भी हुए हैं. जिसके बाद देश में ठीक होने वाले लोगों की संख्या एक करोड़ 16 लाख 82 हजार 136 हो गई है.

मंत्रालय के मुताबिक देश में कोरोना वैक्सीन की अबतक सात करोड़ 91 लाख 5 हजार 163 डोज दी जा चुकी हैं. कुल वैक्सीन में 60.19 फीसदी वैक्सीन आठ राज्यों में लगे हैं. अकेले महाराष्ट्र में ही 9.68 फीसदी वैक्सीन लगी हैं. देश में कुल वैक्सीन में से 43 फीसदी वैक्सीन पांच राज्यों महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और पश्चिम बंगाल में लगी हैं.

देश में महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित है महाराष्ट्र

देश में महामारी से बुरी तरह प्रभावित महाराष्ट्र में रात आठ बजे से सप्ताहांत लॉकडाउन की घोषणा की गई है. राज्य सरकार ने बैंकिंग और बीमा क्षेत्रों को छोड़कर निजी कार्यालयों को बंद करने की घोषणा भी की है. कर्मचारियों को घर से काम करने की अनुमति दी गई, इसके अलावा कई अन्य प्रतिबंध भी लगाए गए हैं.

महाराष्ट्र में अकेले देश में कोविड-19 के कुल मामलों के 57 फीसदी मामले हैं और राज्य में दैनिक नए मामलों का आंकड़ा 47,913 तक पहुंच गया है. महाराष्ट्र में इससे पहले जब कोरोना वायरस महामारी चरम पर थी, उसके मुकाबले यह आंकड़ा दोगुने से भी ज्यादा हैं.

पीएम मोदी ने दिया पांच स्तरीय रणनीति का सुझाव

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को कहा कि कोविड-19 के संक्रमण के इस दौर से निपटने के लिए राज्यों को कड़े और व्यापक कदम उठाने होंगे. संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए उन्होंने पांच स्तरीय रणनीति–टेस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट, कोविड व्यवहार और टीकाकरण को गंभीरता और प्रतिबद्धता से लागू करने का सुझाव दिया. बैठक में महाराष्ट्र, पंजाब और छत्तीसगढ़ के हालात पर चिंता जताई गई और इसके मद्देनजर प्रधानमंत्री ने इन राज्यों में जन स्वास्थ्य विशेषज्ञों और चिकित्सकों की केन्द्रीय टीम भेजने का निर्देश दिया.

संक्रमित मामलों में 91 फीसदी से ज्यादा हिस्सेदारी 10 राज्यों की

देश में कुल संक्रमित मामलों में 91 फीसदी से ज्यादा की हिस्सेदारी 10 राज्यों की है और इन्हीं राज्यों में कोरोना से सबसे ज्यादा मौत भी हुई हैं. पीएमओ के बयान के मुताबिक पिछले 14 दिनों में देश में मामलों की कुल संख्या में 4.5 फीसदी पंजाब से हैं, जबकि मौतों की कुल संख्या में इसकी हिस्सेदारी 16.3 फीसदी रही है.

 

 

link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here