लाइफस्टाइल हेल्थ होली पर खा लिया है ज्यादा जंक फूड तो हो सकती हैं...

होली पर खा लिया है ज्यादा जंक फूड तो हो सकती हैं आंत की समस्याएं, यहां जानें कुछ हेल्दी फूड के बारे में

0
9
होली पर खा लिया है ज्यादा जंक फूड तो हो सकती हैं आंत की समस्याएं, यहां जानें कुछ हेल्दी फूड के बारे में

होली पर खा लिया है ज्यादा जंक फूड तो हो सकती हैं आंत की समस्याएं, यहां जानें कुछ हेल्दी फूड के बारे में

त्योहार के मौसम स्वस्थ खाने की रूटीन को ज्यादातर खराब कर देते हैं. तला भोजन, मिठाई और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर भोजन हमारी डिश में शामिल हो जाता है. अगर आप अपने आंत को सबसे अच्छे संभावित तरीके से दोबारा शुरू करना चाहते हैं, तब डॉक्टर अर्चना बत्रा की सलाह कारगर हो सकती है. डायटीशियन ने आसानी से मुहैया कुछ फूड सामग्री का सुझाव दिया है जो आंत के स्वास्थ्य की दोबारा बहाली में मदद कर सकते हैं.

उन्होंने बताया, “आंत और दिमाग लाखों नर्व सेल से जुड़े हुए होते हैं और अच्छे कारण से आंत को दूसरा दिमाग अक्सर कहा जाता है. जब आपके आंत का स्वास्थ्य खराब होता है, तो उसकी कीमत आपके दिमागी सेहत को डिप्रेशन और चिंता बढ़ाकर चुकानी पड़ती है.” हमारी इम्यूनिटी सिस्टम का 80 फीसद आंत की लाखों बैक्टीरिया पर निर्भर करता है जो भोजन को पचाने, सेरोटोनिन का उत्पादन करने और आपके इम्यून सिस्टम को बढ़ाने में मदद करते हैं.

डायटीशियन कहती हैं, “ये नाजुक संतुलन शुगर के ज्यादा खाने, सब्जियों में कीटनाशकों और यहां तक कि दवाइयों के इस्तेमाल से भी बाधित हो सकता है.” ऐसी स्थिति में आपको जानना चाहिए कौन सी सामग्री का इस्तेमाल किया जाए.

अदरक-

अदरक में एंटी-फन्गल और बैक्टीरिया रोधी गुण पाए जाते हैं जो संक्रमण से लड़ने में मदद करते हैं. आप कई भोजन में अदरक को जोड़ सकते हैं, लेकिन सबसे अच्छा है कच्चा खाना, खास कर उस वक्त जब एंजाइम अभी भी जीवित और ताजा हो. अगर आपको अदरक का स्वाद पसंद नहीं है, तब अदरक को कैप्सूल से लिया जा सकता है.

सब्जी- 

सब्जी जैसे ब्रोकोली और गोभी में सल्फर और एंटी-ऑक्सीडेंट्स होता है जो शरीर में सूजन कम करने का काम करता है. फाइबर में  भरपूर होने के चलते ये सब्जी कोलोन को साफ करने में भी मदद कर सकती हैं. ब्रोकोली पोषक तत्वों जैसे विटामिन सी और विटामिन डी का खजाना है जो आपके शरीर को संक्रमण से बचाने में मदद करता है. आंत को फायदा पहुंचाने के लिए सब्जियों को पका कर खाया जाना चाहिए.

सेब का सिरका- 

बहुत सारी आंत की समस्याएं पेट में कम एसिड का नतीजा होती हैं जिससे रोगजनकों को वृद्धि करने की इजाजत मिल जाती है. सेब का सिरका हम अपनी रोजाना की रूटीन में शामिल कर सकते हैं. उसस भोजन को ठीक ढंग से पचाने, शरीर को डिटॉक्स करने में मदद मिलेगी और शरीर के पीएच लेवल का संतुलन भी बनाएगा. सेब के सिरका में पेक्टिन के पाया जाता है. पेक्टिन आंत के लिए प्रीबायोटिक्स के बड़े स्रोत का काम करता है.

अदरक- 

ताजा अदरक पेट में एसिड का उत्पादन करने में मदद करता है. ताजा कसा हुआ अदरक को सूप, स्मूदि में शामिल करें. कसे अदरक पर गर्म पानी उड़ेंले जिससे ताजा अदरक की चाय बन सके.

 

 

link

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here