असम में बोले अमित शाह- कांग्रेस को सबको लड़ाने में मजा आता है, हमने राज्य को आतंकवाद मुक्त किया

गुवाहाटी:

असम में तीसरे चरण के चुनाव के लिए आज केंद्रीय मंत्री गृहमंत्री ने चिंराग जिले में एक रैली को संबोधित किया. इस दौरान अमित शाह ने एक बार फिर असम को आतंकवाद से मुक्त कर दिए जाने का श्रेय बीजेपी को दिया. इसके साथ ही 2016 से पहले असम में कांग्रेस की सरकार पर जमकर निशाना भी साधा.

अमित शाह ने कहा, “सालों से असम के अंदर आतंकवाद होता था, गोलियां चलती थी. युवा और पुलिसकर्मी मारे जाते थे. लेकिन कांग्रेस कुछ नहीं करती थी. उनको सब को लड़ाने में आनंद आता है. आपने पूर्ण बहुमत की बीजेपी सरकार बनाई, 5 साल में हमने असम को आतंकवाद से मुक्त कर दिया.”

अमित शाह ने गिनाए अपने किए हुए वादे

अमित शाह ने कहा, “पांच साल पहले मैं इसी क्षेत्र में आया था तब मैंने कहा था कि बीजेपी और असम गण परिषद की सरकार बनाकर दीजिए, हम आतंकवाद मुक्त असम बनाकर देंगे. बीजेपी की सरकार नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में बनाइए हम आंदोलन मुक्त असम बनाकर देंगे. मैंने कहा था बीजेपी और असम गण परिषद की सरकार बनाइए, हम एक विकसित असम आपको देंगे. आज तीनों वादे पूरा करके बीजेपी आपका आशीर्वाद मांगने यहां आई है. हमने कहा था कि हम असम में हिंसा का युग समाप्त करके शांति स्थापित करेंगे. हमने बोडोलैंड समझौता किया है, और समझौते के तहत दो तिहाई वादे 6 महीने में पूरे कर दिए हैं.”

कांग्रेस पर लगाए आतंकवाद कभी खत्म न करने के आरोप

अमित शाह ने कहा, ‘कांग्रेस कभी भी हिंसा, आतंकवाद और आंदोलन खत्म करना नहीं चाहती थी. हमने डबल इंजन सरकार के माध्यम से असम को विकास के रास्ते पर ले जाने का काम किया है. मोदी जी ने असम के विकास के लिए ढेर सारे काम किए हैं. ब्रह्मपुत्र नदी पर 6 ब्रिज बनाए, तेल क्षेत्र के विकास के लिए 46 हजार करोड़ रुपये दिए है.’

एआईयूडीएफ प्रमुख बदरुद्दीन अजमल के बयान को दोहराते हुए शाह ने कहा, ‘कल तो बदरुद्दीन अजमल ने कहा कि सरकार की चाबी मेरे पास है, मैं जैसे चाहूंगा वैसे सरकार चलाऊंगा, जिसको चाहूंगा उसको मंत्री बनाऊंगा. अरे बदरुद्दीन, सरकार की चाबी आपके हाथ में नहीं है, असम की जनता के हाथ में चाबी है. कान खोलकर सुन लो बदरुद्दीन, असम को घुसपैठियों का अड्डा हम नहीं बनने देंगे. आपको उखाड़ कर फेंकने का काम बीजेपी करेगी.’

 

link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here