भारत Covid-19 की तीसरी लहर का खतरा, 28% भारतीयों की अगस्त-सितंबर में यात्रा...

Covid-19 की तीसरी लहर का खतरा, 28% भारतीयों की अगस्त-सितंबर में यात्रा की योजना

0
Covid-19 की तीसरी लहर का खतरा, 28% भारतीयों की अगस्त-सितंबर में यात्रा की योजना

Covid-19 की तीसरी लहर का खतरा, 28% भारतीयों की अगस्त-सितंबर में यात्रा की योजना

Coronavirus 3rd Wave: कोरोना वायरस का कहर अभी थमा नहीं है. हर रोज कोरोना वायरस के नए केस सामने आ रहे हैं. इस बीच कोरोना वायरस की तीसरी लहर की चेतावनी भी कई विशेषज्ञों की ओर से दी जा रही है. वहीं अब सर्वे में सामने आया है कि अगस्त-सितंबर में 28 फीसदी भारतीयों की यात्रा करने की योजना है, इसके साथ ही कोविड की तीसरी लहर का खतरा बढ़ना तय है.

लोकल सर्कल्स की ओर से किए गए सर्वे में सामने आया है कि भारत में अगस्त-सितंबर में लोग यात्रा की योजना बना रहे हैं. जिसके कारण कोरोना वायरस की तीसरी लहर का खतरा बढ़ सकता है. सर्वे के मुताबिक अगस्त-सितंबर में कई त्योहारों के साथ अगले 2 महीनों में यात्रा करने वालों में से 54 फीसदी लोग दोस्तों और परिवार से मिलने की योजना बना रहे हैं.

यात्रा पर लगा था प्रतिबंध

वहीं 12 अप्रैल के लोकल सर्किल ने अपने सर्वे में कोविड-19 की दूसरी लहर के खतरे के प्रति आगाह करते हुए सरकारों को यात्रा प्रतिबंध लगाने का सुझाव दिया गया था. उस दौरान 25 फीसदी लोग ग्रीष्मकालीन यात्रा की योजना में थे लेकिन तत्काल द्वितीय लहर जोखिम के कारण सरकारों ने यात्रा प्रतिबंध लगा दिया था. जिसके बाद कोरोना की दूसरी लहर के कारण कई लोगों ने अपने ट्रैवल प्लान को रद्द कर दिया था.

वहीं अब देश में 28 फीसदी लोग अगस्त-सितंबर के बीच यात्रा करने की योजना बना रहे हैं. पांच फीसदी लोगों ने यात्रा की बुकिंग भी कर ली है. इस सर्वे में 311 जिलों के 18,000 लोगों ने भाग लिया, जिसमें से 68 फीसदी पुरुष और शेष महिलाएं शामिल रहीं. सर्वे के मुताबिक कोविड-19 की दूसरी भीषण लहर के दौरान कई लोगों को गर्मियों के लिए अपनी यात्रा योजना रद्द करनी पड़ी थी, जिसके बाद लोग अब यात्रा की योजना बना रहे हैं.

link

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version