भारत नक्सली हमले में लापता कोबरा कमांडो का अब तक नहीं मिला कोई...

नक्सली हमले में लापता कोबरा कमांडो का अब तक नहीं मिला कोई सुराग, CRPF के अधिकारियों ने की जवान के परिवार से मुलाकात

0
नक्सली हमले में लापता कोबरा कमांडो का अब तक नहीं मिला कोई सुराग, CRPF के अधिकारियों ने की जवान के परिवार से मुलाकात

नक्सली हमले में लापता कोबरा कमांडो का अब तक नहीं मिला कोई सुराग, CRPF के अधिकारियों ने की जवान के परिवार से मुलाकात

जम्मू:

रविवार को छत्तीसगढ़ में हुए नक्सली हमले में लापता सीआरपीएफ के कोबरा कमांडो राकेश्वर सिंह का अभी भी पता नहीं चल पाया है. वहीं, सीआरपीएफ के वरिष्ठ अधिकारियों ने जम्मू में राकेश्वर सिंह के परिवार से मुलाकात की और उन्हें राकेश्वर के जल्द घर लौटने का आश्वासन दिया.

रविवार को छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले में लापता सीआरपीएफ के कोबरा कमांडो राकेश्वर सिंह का मंगलवार तीसरे दिन भी कोई पता नहीं चल पाया है. राकेश्वर सिंह की सकुशल वापसी की कामना कर रहा परिवार जहां एक तरफ भगवान से उनकी घर वापसी की दुआएं मांग रहा है, वहीं दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर गृह मंत्री अमित शाह से राकेश्वर सिंह की सकुशल वापसी की अपील कर रहा है.

राकेश्वर सिंह के परिवार ने दावा किया कि

मंगलवार को उनसे मिलने सीआरपीएफ के वरिष्ठ अधिकारी पहुंचे थे और उन्हें इस बात का आश्वासन दिलाया है कि राकेश्वर सिंह की तलाश जारी है. परिवार ने उम्मीद जताई है कि राकेश्वर की जल्द घर वापसी होगी. इसके साथ राकेश्वर सिंह के परिवार ने कहा है कि सीआरपीएफ ने उन्हें यह भी आश्वासन दिलाया है कि राकेश्वर सिंह को खोजने में कोई भी कमी नहीं रखी जाएगी और अगर वह नक्सलियों के चंगुल में है तो उन्हें जल्द से जल्द रिहा कराया जाएगा.

इसके साथ ही अधिकारियों ने परिवार को यह भी आश्वासन दिलाया है कि राकेश्वर की जल्द घर वापसी होगी. राकेश्वर की पत्नी मीनू मन्हास की मानें तो सीआरपीएफ के अधिकारी जो जम्मू में तैनात हैं, केवल वही उनसे संपर्क साध रहे हैं, जबकि दिल्ली या छत्तीसगढ़ से कोई भी अधिकारी उन्हें राकेश्वर सिंह की कोई खबर नहीं दे रहा है. वहीं राकेश्वर सिंह के भाई रणजीत सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से अनुरोध किया है कि वह राकेश्वर की जल्द घर वापसी की कवायद तेज करें.

link

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version