Pregnancy में इन वजहों से लगती है थकान, ये सुपरफूड्स आपको तुरंत देंगे एनर्जी

नई दिल्ली: प्रेग्नेंसी का समय सिर्फ गर्भवती महिला के लिए ही नहीं बल्कि गर्भ में पल रहे उसके बच्चे के लिए भी बेहद अहम समय होता है. इन 9 महीनों में प्यार और देखभाल के साथ ही मां और बच्चे दोनों को ढेर सारे पोषक तत्व (Nutrients) की जरूरत होती है. इस दौरान एक कॉमन समस्या जो ज्यादातर महिलाओं के सामने आती है वह है- थकान (Fatigue) की. प्रेग्नेंसी के शुरुआती दिनों में हार्मोन्स के लेवल में अचानक बहुत ज्यादा बदलाव होने की वजह से महिलाओं को बहुत अधिक थकान और आलस महसूस होता है. हालांकि धीरे-धीरे थकान की यह समस्या ठीक होने लगती है लेकिन 7-8 महीने के आसपास फिर से थकान महसूस हो सकती है. गर्भावस्था (Pregnancy) में थकान का कारण क्या है और इसे कैसे दूर कर सकते हैं, यहां जानें.

प्रेग्नेंसी में इन वजहों से होती है थकान

1-3 महीने- शुरुआती तीन महीनों में शरीर में प्रोजेस्टेरॉन (Progesterone) का लेवल बहुत अधिक बढ़ जाता है जिसकी वजह से बहुत अधिक थकान महसूस होती है और हर वक्त बस सोए रहने का मन करता है. इसके अलावा ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर के लेवल में कमी और मॉर्निंग सिकनेस की वजह से भी थकान महसूस हो सकती है.

3-6 महीने- शुरआती तीन महीने की तुलना में प्रेग्नेंसी की दूसरी तिमाही में थकान कुछ कम हो जाती है. लेकिन अगर आपके साथ ऐसा न हो तो डॉक्टर से बात करें.

6-9 महीने- गर्भावस्था की आखिरी तिमाही में बच्चे के बढ़ते वजन (Baby Weight) की वजह से आपको असहज महसूस हो सकता है, नींद पूरी नहीं होती और इन सारी चीजों की वजह से फिर से थकान होने लगती है.

थकान को दूर करेंगे ये सुपरफूड्स

1. डेयरी प्रॉडक्ट्स– डेयरी प्रॉडक्ट्स (Dairy products) में प्रोटीन और कैल्शियम के अलावा मैग्नीशियम, जिंक, विटामिन बी समेत कई और जरूरी न्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं जो बच्चे को स्वस्थ ग्रोथ देने के साथ ही आपकी थकान भी दूर करने में मदद सकते हैं. इसलिए दूध, दही, छाछ, पनीर आदि का सेवन जरूर करें.

2. दालें और फलियां- दाल (Legumes) के अलावा मटर, सोयाबीन, मूंगफली, राजमा, चना और छोले जैसी चीजें भी इस फूड ग्रुप में आती हैं. प्रोटीन के अलावा दालें फाइबर, फोलेट और कैल्शियम का भी अच्छा सोर्स होती हैं. फोलेट, गर्भ में पल रहे शिशु में किसी भी तरह के जन्मजात दोष से बचाता है और एनर्जी से भरपूर रखने में भी मदद करता है.

3. ब्रोकली- आप चाहें तो ब्रोकली (Brocolli) को सलाद, सूप, सब्जी जिस तरह से दिल करें मिलाकर खाएं लेकिन प्रेग्नेंसी में ब्रोकली खाएं जरूर. प्रेग्नेंसी में थकान के अलावा कब्ज भी एक कॉमन प्रॉब्लम है जिसे दूर करने में मदद कर सकती है फाइबर से भरपूर ब्रोकली.

4. चुकंदर- ब्रोकली के अलावा एक और सब्जी है जिसे गर्भवती महिलाओं को जरूर खाना चाहिए और वह है चुकंदर (Beetroot). चुकंदर इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ ही खून बनाने में भी मदद करता है, ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखता है और आपको एनर्जी भी देता है.

5. नट्स खाएं- प्रेग्नेंसी में हेल्दी स्नैक्स का ऑप्शन देख रही हैं तो नट्स (Nuts) से दोस्ती कर लें. बादाम, अखरोट, पिस्ता जैसे नट्स में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है जो आपके बच्चे के विकास के लिए जरूरी है.

(नोट: किसी भी उपाय को करने से पहले हमेशा किसी विशेषज्ञ या चिकित्सक से परामर्श करें. Zee News इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)

 

 

link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here