स्पोर्ट्स क्रिकेट सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी : बड़ौदा को 7 विकेट से हराकर तमिलनाडु...

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी : बड़ौदा को 7 विकेट से हराकर तमिलनाडु दूसरी बार बना चैम्पियन, कार्तिक-शाहरुख ने किया कमाल

0
54
सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी : बड़ौदा को 7 विकेट से हराकर तमिलनाडु दूसरी बार बना चैम्पियन, कार्तिक-शाहरुख ने किया कमाल

अहमदाबाद  (आईएएनएस)। मैन ऑफ द मैच एम सिद्धार्थ के चार विकेटों के बाद अपने बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर तमिलनाडु ने रविवार को यहां मोटेरा के सरदार पटेल स्टेडियम में खेले गए फाइनल मैच में बड़ौदा को सात विकेट से हराकर दूसरी बार सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट का खिताब जीत लिया।

तमिलनाडु का यह दूसरा सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट खिताब है। तमिलनाडु ने इससे पहले 2006-07 में पहली बार यह खिताब जीता था। तमिलनाडु को पिछले साल फाइनल में कर्नाटक से एक रन से हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन इस बार टीम ने खिताब पर कब्जा जमाने में कोई गलती नहीं की। बड़ौदा 2013-14 के बाद दूसरी बार खिताब जीतने से चूक गया।

तमिलनाडु ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करते हुए बड़ौदा को नौ विकेट पर 120 रनों पर थाम दिया। इसके बाद उसने दो ओवर शेष रहते तीन विकेट खोकर इस आसान से लक्ष्य को हासिल कर लिया। बड़ौदा से मिले 121 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी तमिलनाडु ने 26 के स्कोर पर इस सीजन के टॉप स्कोरर एन जगदीशन (14) का विकेट गंवा दिया।

इसके बाद उसने हरि निशांत (35), बाबा अपराजित (नाबाद 29) और कप्तान दिनेश कार्तिक (22) के उपयोगी पारियों के सहारे लक्ष्य को हासिल कर लिया। निशांत ने 38 गेंदों पर तीन चौके और एक छक्का लगाया। बाबा ने 35 गेंदों पर एक चौका और कार्तिक ने 16 गेंदों पर तीन चौके लगाए। शाहरुख खान ने सात गेंदों पर दो चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 18 रन बनाए। बड़ौदा की ओर से अतीत सेठ, लुकमल मेरिवाला और बाबाशफी पठान ने एक-एक विकेट लिया।

इससे पहले, तमिलनाडु ने बड़ौदा को नौ विकेट पर 120 रनों पर थाम दिया। तमिलनाडु ने टॉस जीतकर बड़ौदा को पहले बल्लेबाजी करने के लिए आमंत्रित किया। बड़ौदा की शुरुआत काफी खराब रही और टीम ने 8.1 ओवर में 32 रन तक अपने शुरुआती पांच विकेट गंवा दिए।

इन पांच विकेटों में इस सीजन में सर्वाधिक रन बनाने वालों बल्लेबाजों की सूची में दूसरे नंबर पर चल रहे कप्तान केदार देवधर (10), निनंद रत्वा (1), समित पटेल (1), भानू पानिया (0) और अभिमन्यु राजपूत (2) के विकेट शामिल हैं। हालांकि, क्वार्टर फाइनल में तूफानी अर्धशतकीय पारी खेलने वाले विष्णु सोलंकी ने एक छोर संभाले रखा। लेकिन दूसरी तरफ से बड़ौदा के विकेटों का गिरने का सिलसिला जारी रहा। टीम को छठा झटका 36 के स्कोर पर कार्तिक काकड़े (4) के रूप में लगा।

इस बीच, सोलंकी ने अतीत सेठ (29) के साथ सातवें विकेट के लिए 58 रनों की साझेदारी की। सेठ टीम के 94 रनों के स्कोर पर आउट हुए। उन्होंने 30 गेंदों पर दो चौके और एक छक्का लगाया। सोलंकी ने फिर अंतिम ओवरों में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए 55 गेंदों पर एक चौका और दो छक्कों की मदद से 49 रनों की पारी खेलकर टीम को नौ विकेट पर 120 रनों के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। भार्गव भटट ने नाबाद 12 रन बनाए।

तमिलनाडु की ओर से एम. सिद्धार्थ ने सर्वाधिक चार विकेट लिए। उनके इस शानदार प्रदर्शन के चलते उन्हें मैन आफ द मैच और मैन आफ द सीरीज का भी पुरस्कार दिया गया। उनके अलावा बाबा अपराजित और मुरुगन अश्विन को एक-एक विकेट मिला।

link

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here