स्पोर्ट्स Statement: Virat Kohli says damage would not matter, simply would not wish...

Statement: Virat Kohli says damage would not matter, simply would not wish to be out । बयान: विराट कोहली ने कहा चोट से कोई फर्क नहीं पड़ता, बस बाहर नहीं होना चाहता

0
277
Statement: Virat Kohli says injury doesn't matter, just doesn't want to be out
Statement: Virat Kohli says injury doesn't matter, just doesn't want to be out

Statement: Virat Kohli says damage would not matter, simply would not wish to be out । बयान: विराट कोहली ने कहा चोट से कोई फर्क नहीं पड़ता, बस बाहर नहीं होना चाहता

नई दिल्ली डिजिटल डेस्क, । इंडियन workforce के 2014 England दौरे पर Virat Kohli का प्रदर्शन काफी ख़राब रहा था। औसत १३.५० पांच टेस्ट में उनका एवरेज रहा। विराट कोहली उस दौरे को कभी अपनी हार की नजरये से नहीं देखते । सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल के शो ओपन नेट्स पर बात करते विराट ने कहा की, मैं जो करना चाहता था वह कर रहा था पर 2014 के इंग्लैंड दौरे पर तालमेल ठीक नहीं बैठ रहा था और कुछ भी नहीं है। कुछ ऐसा समझने में देर हो गई, जो usefull नहीं थी ऐसा मुजे लगा |

2014 का दौरा मेरे करियर में हमेशा बहुत ही महत्वपूर्ण साबित होगा विराट कोहली ने कहा। मैंने इस बारे में बहुत ध्यान से सोचा कि मैं उस दौरे से फर्स्ट मैच में कैसे गया और कैसे खेला | इसके बाद मुज्मे से डर निकल ही गया । “मैं उसी तरह खेल सकता हूं अगर यह मैच नहीं है तो खेल में और सुधार नहीं कर पाउँगा ऐसे विराट कोहली ने कहा | मैं अपने international करियर के साथ कैसे आगे बढ़ूंगा ये मुझे उस दौरे ने सोचने पर मजबूर कर दिया है |

कोहली ने बोला कि England दौरे पर 1-Three की हार के जो फायदेमंद नहीं थी,बाद Ravi Shastri की स्पीच से उनको लिए काफी मदत मिली। उन्होंने कहा, रवि शास्त्री ने मुझे और शिखर धवन को २०१४ की टेस्ट मैच के बाद अपने रूम में बुलाया । वह बहुत अच्छी तरीके से सोचते है और उनकी याद्दाश भी बहोत अच्छी है। उन्होंने मुझे पिच के आउटसाइड खड़े होने के लिए कहा और उन्होंने मुझे उसी की गंभीरता के बारे में समजाया ।

उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या मुझे शॉर्ट गेंद से डर लगता है? मैंने कहा, “मैं शॉर्ट पिच गेंदों से डरने वाला नहीं हूं । “मुझे चोट से कोई फर्क नहीं पड़ता, मैं सिर्फ बाहर नहीं होना चाहता । उन्होंने कहा, मैंने उसी साल ऑस्ट्रेलिया में इसका अभ्यास किया और परिणाम अविश्वसनीय थे ।

कोहली ने यह भी बताया की England दौरे के बाद उन्होंने Sachin Tendulkar से भी बात की थी और मुंबई में उनके साथ कुछ नेट्स practis भी कि। उन्होंने कहा, मैंने इंग्लैंड दौरे के बाद अपनी फुटेज देखी । मैंने मुंबई में सचिन से बात की और कुछ नेट्स सेशन किए। मैंने उससे कहा कि मैं अपने कूल्हे की स्थिति पर काम कर रहा था । उन्होंने मुझे बड़े स्टेन्स का महत्व बताया, उन्होंने मुझे आगे बढ़कर तेज गेंदबाज के खिलाफ खेलने को कहा। सन 2018 में next इंग्लैंड दौरे पर 593 रन विराट कोहली ने बनाए थे, जिसमें ३ अर्धशतक और २ शतक शामिल हुए है |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here