लाइफस्टाइल हेल्थ महिलाओं में विटामिन डी की कमी से हो सकता है कई बीमारियों...

महिलाओं में विटामिन डी की कमी से हो सकता है कई बीमारियों का खतरा, इस तरह रखें अपना ख्याल

0
महिलाओं में विटामिन डी की कमी से हो सकता है कई बीमारियों का खतरा, इस तरह रखें अपना ख्याल

महिलाओं में विटामिन डी की कमी से हो सकता है कई बीमारियों का खतरा, इस तरह रखें अपना ख्याल

Vitamin D Deficiency In Ladies:

महिलाओं के अच्छे स्वास्थ्य के लिए विटामिन डी बहुत जरूरी है. विटामिन डी की कमी से महिलाओं में कई तरह की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है. प्रेगनेंसी से लेकर बढ़ती उम्र में महिलाओं के शरीर में विटामिन डी की कमी होने लगती है. ऐसे में आपको स्वस्थ रहने के लिए सनशाइन विटामिन यानि विटामिन डी  जरूर लेना चाहिए. आप प्राकृतिक स्रोत जैसे धूप में बैठकर या टहलकर विटामिन डी ले सकते हैं. सुबह की धूप से शरीर में विटामिन डी की कमी को पूरा किया जा सकता है. अगर आप धूप में नहीं बैठ सकते तो विटामिन डी से भरपूर खाद्य पदार्थों को अपनी डाइट का हिस्सा जरूर बनाए. विटामिन डी आपकी हड्डियों और रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए बहुत जरूरी है. जानते हैं महिलाओं में विटामिन डी की कमी के लक्षण और कैसे दूर करें.

क्यों जरूरी है विटामिन डी ?

एक रिसर्च में कहा गया है कि जिन महिलाओं के शरीर में विटामिन डी की कमी होती है उन्हें हार्ट फेल, हार्ट अटैक, स्ट्रोक, डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है. प्रेगनेंसी में अगर विटामिन डी की कमी हो जाए तो इससे प्री एक्लेप्सिया, गेस्टेशनल डायबिटिज जैसी स्थिति बन जाती है. शरीर में विटामिन डी की कमी से हड्डियां कमजोर, जोड़ों में दर्द और हड्डियों के टूटने का खतरा बढ़ जाता है.

विटामिन डी की कमी के लक्षण

1- ज्यादा बीमार पड़ना- जिन महिलाओं के शरीर में विटामिन डी की कमी होती है, उनकी इम्यूनिटी कमजोर हो जाती है. शरीर में बीमारियों, वायरस और बैक्टीरिया से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है. विटामिन डी की कमी होने पर अक्सर फ्लू, बुखार और सर्दी खांसी की समस्या होने लगती है. इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए शरीर में विटामिन डी की कमी नहीं होनी चाहिए.

2- थकान और चिंता- अक्सर महिलाओं को चिंता और थकान महसूस होती रहती है. इसकी एक बड़ी वजह शरीर में विटामिन डी की कमी भी हो सकती है. शरीर में बहुत कम ब्लड शुगर लेवल होने पर भी थकान रहती है, जिससे हर वक्त थकान और कमजोरी महसूस होती है.

3- जख्म भरने में समय लगे- शरीर मे विटामिन डी की कमी होने पर चोट, सर्जरी या घाव देरी से भरते हैं. ये विटामिन डी की कमी के संकेत हैं. अगर शरीर मेंविटामिन डी का स्तर बहुत कम होता है जो जख्म देरी से भरते हैं.

4- हड्डियां कमजोर- शरीर में हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए कैल्शियम और विटामिन डी की जरूरत होती है. कैल्शियम के अवशोषण और हड्डियों को स्वस्थ रखने में विटामिन डी अहम भूमिका निभाता है. विटामिन डी कम होने से बोन डेंसिटी भी कम हो जाती है, जिससे हड्डियों में फ्रैक्चर का खतरा बढ़ जाता है.

कैसे पूरी करें विटामिन डी की कमी 

1- सुबह 10 बजे की धूप कम से कम आधे घंटे जरूर बैठें.
2- अपने वजन को कंट्रोल रखें, मोटापा बढ़ने के साथ शरीर में विटामिन डी की कमी होने लगती है.
3- विटामिन से भरपूर खाद्य पदार्थ जैसे फैटी फिश और मशरूम अपनी डाइट में शामिल करें.
4- खाने में लो फैट वाले डेयरी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें.
5- रोज नियमित रुप से कम से कम 2 गिलास दूध पिएं, कोशिश करें गाय का दूध पीएं.

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की एबीपी न्यूज़ पुष्टि नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में लें. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

link

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version