बंगाल चुनाव: ममता बनर्जी को क्यों बताना पड़ा खुद को हिन्दू? फिरहाद हाकिम ने बताया

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में टीएमसी तीसरी बार सरकार बनाने के दावे के साथ चुनावी मैदान में उतरी है. टीएमसी की तरफ से लगातार राज्य में धुआंधार कैंपेन किया जा रहा है. इस बीच मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तरफ से खुद को हिन्दू बताए जाने और गोत्र बताने पर बीजेपी उन्हें घेर रही है. एबीपी न्यूज से खास बातचीत करते हुए कोलकाता के मेयर और शहरी विकास मंत्री फिरहाद हाकिम ने शुक्रवार को कहा कि ममता बनर्जी सिर्फ बंगाल की ही नेता नहीं बल्कि पूरे विपक्ष  का आज एक बड़ा चेहरा हैं.

ममता ने गरीबों के लिए किया काम

उन्होंने कहा- बीजेपी ममता बनर्जी को राजनीतिक रूप से खत्म कर देना चाहती हैं. यही वजह है कि BJP पूरे दमखम के साथ बंगाल में उतर आई है. लेकिन बीजेपी की इस कोशिश को बंगाल पूरा नहीं करने देगा. ममता के भरोसेमंद माने जाने वाले फिरहाद हाकिम ने कहा-  गरीबी के लिए जितने काम ममता ने किया इतना किसी भी सरकार ने देश में नहीं किया है. बंगाल में जितने स्कीम चल रही है वो सब गरीबों के लिए ही किया है.

ममता बेगम के जवाब में सीएम ने दिया जवाब

उन्होंने ममता बनर्जी के हिन्दू वाले बयान पर कहा- “ममता बनर्जी को बेगम कहा जा रहा था. जिसके बाद ममता बनर्जी की तरफ यह बयान दिया गया. क्योंकि बीजेपी ने एक स्टेज से ममता बेगम बोला था.” फिरहाद ने आगे कहा- कोई चंडीपाठ करता है या कुरान शरीफ पढ़ता है तो ये अन्याय नहीं है. जयश्रीराम के नारे लगाना गलत नही है लेकिन जब किसी को चिढ़ाने के लिए नारे लगाए जाते हैं तो वो गलते है.

उन्होंने कहा- हर दुर्गापूजा में ममता खुद निकलती है, जितना बड़ा कोलकाता में दुर्गापूजा कार्निवल होता है इतना बड़ा मुंबई में भी नहीं होता है. कम से कम 200 दुर्गापूजा में उद्घाटन करने जाती है. अमित शाह दावा कर रहे हैं अपने कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाने के लिए. दस सीट से ज्यादा बीजेपी नहीं जीतेगी. उन्होंने कहा- शुभेंदु इसलिए गए क्योंकि बीजेपी के पास सीबीआई और सीआईडी है. हमारे पास जिस दिन केन्द्र सरकार होगी शुभेंदु हमारे पास आ जाएंगे.

link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here