Zomato और Swiggy रात 8 बजे के बाद से नहीं करेंगे फूड डिलीवर, नए लॉकडाउन का असर

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते मामलों को देख राज्य सरकार ने सख्त लॉकडाउन लगा दिया है, जिसके चलते अब Zomato और Swiggy जैसे फूड डिलीवरी ऐप्स ने रात 8 बजे के बाद ऑर्डर लेना बंद कर दिया है। इन दोनों ऐप्स ने अपने यूज़र्स को नाइट कॉर्फ्यू के पहले दिन 5 अप्रैल को नोटिफिकेशन भेजकर जानकारी दी कि वह सभी अपने ऑर्डर रात 8 बजे से पहले प्लेस करें, ताकि जल्द से जल्द उन तक खाना पहुंचाया जा सके। स्विगी और जोमैटो दोनों ने अपने यूज़र्स को मैसेज के जरिए बताया गया है कि वह रात 8 बजे के बाद कोई ऑर्डर एक्सेप्ट नहीं करेंगे।

मुंबई में Zomato और Swiggy दोनों में इन-ऐप मैसेज दिया गया है

जिसमें जानकारी प्रदान की गई है कि कंपनी रात 8 बजे के बाद ऑर्डर एक्सेप्ट नहीं करेंगी। रात 8 बजे के बाद यदि आप जोमैटो के जरिए फूड ऑर्डर करते हैं, तो आपको मैसेज दिखेगा, “We’re currently not accepting orders online. We’ll be back soon.” वहीं, स्विगी के मैसेज में लिखा आता है, “We are not delivering here at the moment!”।

दोनों फूड डिलीवरी ऐप्स का यह नया कदम महाराष्ट्र सरकार द्वारा ज़ारी किए नए लॉकडाउन के दिशानिर्देशों के तहत उठाया गया है। महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोना वायरस केस की बात करें, तो यह संख्या 47,000 के पार हो गई है। मुंबई में रविवार को यह संख्या 11,000 के पार थी, जो कि महामारी शुरू होने से लेकर अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। बढ़ते केस को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया है, इसके साथ ही वीकेंड पर सम्पूर्ण लॉकडाउन लगाया जाएगा। नाइट कर्फ्यू की बात करें, तो यह रात 8 बजे से लेकर सुबह 7 बजे तक चलेगा। जोमैटो और स्विगी दोनों ही इस लिहाज़ से सरकार के आदेशों का पालन कर रही हैं। हालांकि, यह नया लॉकडाउन 30 अप्रैल तक ही ज़ारी रहेगा।

सरकार की नोटिफिकेशन में कहा गया है

“टेक-अवे ऑर्डर, पार्सल और होम डिलीवरी सर्विस सोमवार से शुक्रवार सुबह 7 बजे से शाम 8 बजे के बीच चालू होंगी। वीकेंड में सुबह 7 बजे से 8 बजे के बीच केवल होम डिलीवरी सर्विस को ही अनुमति मिलेगी…. ऑर्डर देने या पिकअप के लिए किसी भी रेस्तरां या बार में जाना वैध नहीं होगा। ”

सरकार ने 45 साल व इससे अधिक आयु वाले लोगों के लिए वैक्सिनेशन प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसके लिए यूज़र्स को CoWIN पोर्टल पर जाकर खुद को रजिस्टर करना होगा और फिर अपने नजदीकी सेंटर पर जाकर वैक्सिनेशन लेनी होगी। प्राइवेट अस्पताल में वैक्सिनेशन के लिए 250 रुपये चार्ज किया जाएगा, वहीं सरकारी अस्पतालों में मुफ्त वैक्सिनेशन दिया जा रहा है।

 

link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here