पश्चिम बंगाल: कोलकाता में शुभेंदु अधिकारी के रोड शो में भिड़े BJP और TMC कार्यकर्ता, दोनों ओर से जमकर चले पत्थर

    0
    135
    पश्चिम बंगाल: कोलकाता में शुभेंदु अधिकारी के रोड शो में भिड़े BJP और TMC कार्यकर्ता, दोनों ओर से जमकर चले पत्थर

    डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे  पास आते जा रहे हैं वैसे-वैसे सियासी पारा चढ़ता ही जा रहा है। यही नहीं तीखी बयानबाजी के साथ राजनीतिक पार्टियों के बीच हिंसक घटनाएं भी बढ़ती जा रही हैं। ताजा मामला टॉलीगंज क्षेत्र से सामने आया है। यहां TMC छोड़कर भाजपा में शामिल हुए शुभेंदु अधिकारी की रैली पर जमकर पथराव किया गया और काले झंडे दिखाए गए। इस रोड शो में अधिकारी के अलावा केंद्रीय मंत्री देबाश्री चौधरी और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष भी शामिल थे।

    भाजपा नेताओं ने हमले का आरोप तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर लगाया है। बताया जाता है कि इस दौरान दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं में झड़प भी हुई। TMC की महिला विंग ने भाजपा नेताओं को काले झंडे भी दिखाए। इससे पहले पश्चिम बंगाल दौरे पर गए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर बीते 10 दिसंबर को तृणमूल (TMC) समर्थकों ने पथराव किया था। इसमें बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय समेत पार्टी के कुछ नेता घायल हो गए थे।

    शुभेंदु के गढ़ नंदीग्राम से चुनाव लड़ेंगी ममता ​​
    इससे कुछ देर पहले, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को आगामी चुनाव में उसी नंदीग्राम विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने का ऐलान किया, जहां से 2016 में उनके खास रहे शुभेंदु अधिकारी चुनाव जीते थे। पूर्वी मिदनापुर स्थित नंदीग्राम को शुभेंदु का गढ़ माना जाता है। यहां रैली के दौरान ममता ने कहा कि किसी के पाला बदलने से कोई फर्क नहीं पड़ता। जब TMC का गठन हुआ था, तब इनमें से कोई भी पार्टी के साथ नहीं था। अगर संभव हुआ तो मैं नंदीग्राम और भवानीपुर दोनों जगहों से चुनाव लड़ूंगी।

    टीएमसी को 200 से अधिक सीटें आएंगीः ममता
    मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नंदीग्राम से हुंकार भरते हुए कहा, ‘’मैं नंदीग्राम सीट से चुनाव लड़ूंगी। संभव हुआ, तो भवानीपुर और नंदीग्राम दोनों जगह से चुनाव लड़ूंगी। ममता बनर्जी ने कहा कि इस बार भी बंगाल में टीएमसी की सरकार बनेगी और टीएमसी को 200 से अधिक सीटें मिलेंगी।

    TMC में टूट जारी
    19 दिसंबर को शुभेंदु के साथ सांसद सुनील मंडल, पूर्व सांसद दशरथ तिर्की और 10 MLA ने भी भाजपा ज्वॉइन की थी। इनमें 5 विधायक TMC के ही थे। इससे पहले तापसी मंडल, अशोक डिंडा, सुदीप मुखर्जी, सैकत पांजा, शीलभद्र दत्ता, दिपाली बिस्वास, शुक्र मुंडा, श्यांपदा मुखर्जी, बिस्वजीत कुंडू और बनश्री माइती ने पिछले महीने भाजपा ज्वॉइन की थी।

    नंदीग्राम से ममता के चुनाव लड़ने की वजह
    TMC के बागी शुभेंदु अधिकारी के परिवार का नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र वाले पूर्वी मिदनापुर में वर्चस्व है। शुभेंदु के पिता कांग्रेस से विधायक और सांसद रह चुके हैं। वे UPA सरकार में ग्रामीण विकास राज्य मंत्री थे और अभी तृणमूल से सांसद हैं। शुभेंदु खुद लगातार विधायक और सांसद का चुनाव जीतते आ रहे हैं। शुभेंदु के एक भाई सांसद और दूसरे नगरपालिका अध्यक्ष हैं। इस परिवार का 6 जिलों की 80 से ज्यादा सीटों पर असर है। ऐसे में ममता बताना चाहती हैं कि गढ़ किसी का भी हो, लेकिन चलेगी उन्हीं की।

     

    link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here